जाति जनगणना का इतिहास खंगालने पर पता चलता है कि देश में पिछली बार सन 1931 में अंग्रेजों ने जातियों की गिनती करवाई थी। 21वीं सदी में एक दशक निकल जाने के बाद केंद्र सरकार ने इसके लिए मन बनाया। 21 दिन में पूरी होने वाली 2011 की आम जनगणनाRead More →

नई दिल्ली। पिछले तीन दशक में नक्सलियों ने लगभग 12000 आम लोगों की हत्या कर दी। करीब 3000 सुरक्षाकर्मी इसी अवधि में नक्सलियों के हाथों मारे गये। गृह मंत्रालय के आंकडों के मुताबिक 1980 से अब तक नक्सलियों ने 11742 आम नागरिकों की हत्या कर दी। सुरक्षाबलों की बात करें तोRead More →

छत्तीसगढ़ में पिछले कुछ दिनों में जिस व्यवसाय ने सबसे तेजी से विकास किया है, उसमें अगर मत्स्य पालन को रखा जाए तो यह कहना गलत नहीं होगा क्योंकि कम लागत में गरीबों का एक ऐसा व्यवसाय जो मुनाफों का अंबार लगा सकता है। राष्ट्रीय मछुआरा कल्याण से प्राप्त आंकड़ेRead More →

अम्बिकापुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि भाजपा की जीत की शुरूआत अम्बिकापुर से होगी। उन्होंने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं कि प्रदेश में तीसरी बार भाजपा की सरकार बनने जा रही है। डॉ. सिंह भाजपा विधानसभा कार्यालय में पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। चर्चा के दौरान कांग्रेसRead More →

रायपुर। छत्तीसगढ़ के जंगलों ने लोकतंत्र की पहली सीढ़ी पार कर ली है। फिर भी, छत्तीसगढ़ की फिजाओं में इस बार सियासी नजारा विहंगम है। विधानसभा चुनाव परिणाम का ऊंट किस करवट बैठेगा, यह तो बाद की बात है लेकिन आरोप प्रत्यारोप की सियासत में कांग्रेस को छलिया बताने वाली भाजपाRead More →