banner ad

फेसबुक पर आग की तरह फैल रहा है ‘सराहा’

30 करोड़ से ज्यादा बार डाउनलोड हुई सऊदी अरब की ये ऐप
नई दिल्ली.सऊदी अरब की मोबाइल एप्लीकेशन ‘सराहा’ ने बाजार में आते ही एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है. अबतक 30 करोड़ से ज्यादा यूजर्स ने इसे डाउनलोड कर चुके हैं. सराहा एक अरबी शब्द है जिसका मतलब होता है ‘ईमानदारी’. इस ऐप की खासियत है कि इससे मैसेज भेजने पर पहचान उजागर नहीं होती और न ही इस ऐप से आए मैसेज का रिप्लाई दिया जा सकता है. यही इस ऐप के हिट होने की सबसे बड़ी वजह है. ‘सराहा’ पर आप अपने दिल की बात लिख सकते हैं और इसमें आपकी पहचान भी छुपी रहेगी. यहां आप किसी से भी अपने प्यार और नफरत का इजहार कर सकते हैं. खास बात ये है कि सामने वाले को आपकी पहचान का पता नहीं है ऐसे में आपके दिल का वो डर खत्म हो जाएगा जो आपको मन की बात कहने से रोक लेता है.  वैसे तो आपने ‘सराहा’ के कई लिंक अपनी फेसबुक फीड पर देख ही चुके होंगे. अगर नहीं देखा है तो आपके फेसबुक न्यूज पर भी जल्द ‘सराहा’ के मैसेज लिंक की बाढ़ आने वाली है. पिछले दो-तीन दिन से ये वेब प्लेटफॉर्म सोशल मीडिया पर आग की तरह फैल गया है.
कैसे काम करता है ‘सराहा’
‘सराहा’ पर यूजर बनने के लिए या तो आपको इसके वेब प्लेटफॉर्म पर अपना अकाउंट बनाना होगा. इसके अलावा आप गूगल प्ले स्टोर या एपल के एप स्टोर पर जाकर ‘सराहा’ एप डाउनलोड कर सकते हैं. इसकी आईओएस फाइल 22 एमबी और एंड्रॉयड की एप साइज 12 एमबी है. एप डाइउनलोड करके अकाउंट बनाइए और इसके बाद अपने अकाउंट का मैसेज लिंक अपने फेसबुक अकाउंट पर शेयर करिए. इसके बाद आपको कुछ नहीं करना होगा. खुद-ब-खुद आपको मैसेज मिलने शुरु हो जाएंगे. इन मैसेज भेजने वालों की पहचान आपको नहीं पता चलेगी. ऐसे में ये प्लेटफॉर्म और भी मजेदार हो जाता है. जब आप किसी के दिए हुए मैसेज पर क्लिक करेंगे तो यहां आपको एक मैसेज बॉक्स नजर आएगा, जहां आप अपनी बाद लिखकर नीचे लिखे संेड बटन पर काम करना होगा. इस एप को सऊदी अरब के जेन अल-अबीदीन तौफीक ने बनाया है. इस एप को लास्ट अपटेड जुलाई 2017 में मिला है. सोशल मीडिया कैटेगरी का एप है.
क्या है सराहा के साइड-इफेक्ट?
फेसबुक पर तेजी से वायरल हो रहे सराहा एप के मैसेज सोशल मीडिया की न्यूज फीड पर छाए हुए हैं. ये एप इतनी तेजी से फैल रहा है कि महज दो दिन में इसके फेसबुक का रंग ही बदल दिया है. इन सब के बीच हम आपको बता रहे हैं कि इसके साइड इफेक्ट क्या हैं. जैसा कि हम आपको बता चुके हैं इस एप में मैसेज भेजने वाले की पहचान छुपी होती है ऐसे में कोई भी आपको कैसे भी मैसेज कर सकता है. ये मैसेज अब्यूजिव और अश्लील हो सकता है. ऐसे में आपको सतर्क रहने की जरुरत है. अगर आपको अब्यूजिव मैसेज मिलता है तो आप इसकी शिकायत साइबर क्राइम सेल में कर सकते हैं. बिना पहचान बताए ऐप से भेजे जाने वाले मैसेज से नुकसान होने का भी खतरा है. ऐप स्टोर पर कई सकारात्मक रिव्यू में भी चेतावनी दी गई है कि यह ऐप कमजोर दिल वाले लोगों के लिए नहीं है. वहीं एक दूसरे 5-स्टार रिव्यू में बताया गया है कि लोगों को कई नफ़रत भरे मैसेज भी मिल रहे हैं.
पहला ऐप नहीं
बता दें कि यह पहला ऐप नहीं है जिसमें बिना नाम बताए किसी को मैसेज भेज सकते हैं. यीक, याक, सिके्रट  और व्हिस्पर जैसे दूसरे लोकप्रिय ऐप भी हैं जिनका इस्तेमाल भी बिना पहचान जाहिर किए मैसेज भेजनेके लिए किया जाता है. जहां ये मैसेज ज्यादा सोशल हैं और लोगों के बीच ज्यादा संवाद हो रहा है. वहीं सराहा का मुख्य उद्देश्य मैसेजिंग पर है और सोशल मीडिया पर कम. इसलिए दूसरे यूजर की प्रोफाइल पर जाने से आपको कुछ नहीं मिलेगा, अगर उन्होंने अपनी पोस्ट पब्लिक ना की हो.

Please follow & like us:

Filed Under: विविध

RSSComments (0)

Trackback URL

Comments are closed.

Follow by Email40
Facebook206
Google+60
http://www.hellocg.com/?p=5282">
Twitter140