banner ad

19 बैंठकें, 13 विधेयक पेश, 80 घंटे चर्चा के साथ संसद का मानसून सत्र समाप्त

नई दिल्ली. ए. लोकसभा, राज्यसभा के मानसून सत्र की कार्यवाही आज अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गयी. नवनिर्वाचित राज्यसभा सभापति एम वेंकैया नायडु ने आज कार्यभार संभाला. श्री नायडु ने इस सत्र के दौरान हुये कामकाज ब्यौरा दिया और उसके बाद सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने की घोषणा की. सभापति हामिद अंसारी को कार्यकाल पूरा करने के बाद कल विदाई दी गयी. श्री नायडु ने बताया कि मानसून सत्र 17 जुलाई से शुरु हुआ था और इस दौरान सदन की 19 बैंठकें हुईं जिनमें 13 विधेयक पेश किये गये. इनमें से नौ महत्वपूर्ण विधेयक पारित किए गए और तीन विधेयक वापस लिए गये. इसके साथ ही कुछ महत्वपूर्ण मुद्दों पर भी चर्चा की गई. सदन में कुल मिलाकर 80 घंटे चर्चा हुयी. इस दौरान 11 दिन प्रश्नकाल हुआ. 87 विशेष उल्लेख, लोक महत्व के तीन विषयों पर अल्पकालिक चर्चा हुयी. दो विधेयक प्रवर समिति को भेजे गये. सदन के दो नये सदस्यों ने भी सदस्यता की शपथ ली जबकि 10 को विदाई दी गयी जिनमें सीताराम येचुरी, दिलीप भाई पांड्या, डी बंदोपाध्याय आदि शामिल है.
बॉक्स
लोकसभा में बर्बाद हुए 30 घंटे
लोकसभा के मानसून सत्र में सदस्यों के व्यवधान के कारण कामकाज के करीब 30 घंटे बर्बाद हुए हालांकि सदन ने करीब साढ़े दस घंटे अतिरिक्त काम कर महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की.  सदन ने इस दौरान कुल 14 विधेयक पारित किए जिनमें सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान विधेयक (सार्वजनिक निजी भागीदारी) विधेयक, बैंकिंग नियमन (संशोधन) विधेयक, कंपनी (संशोधन) विधेयक, निशुल्क एंव अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार (संशोधन) विधेयक तथा राष्ट्रीय कृषि एंव ग्रामीण विकास बैंक (संशोधन) विधेयक प्रमुख हैं.  सत्र में सदन ने देश में कृषि क्षेत्र की स्थिति तथा भीड़ द्वारा पीट कर की गयी हत्या की घटनाओं से उत्पन्न स्थिति पर विस्तार से चर्चा की.

Filed Under: featuredदेश-दुनिया

RSSComments (0)

Trackback URL

Comments are closed.