अनुसूचित जनजाति आयोग की मांग- अजीत जोगी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई हो?

अनुसूचित जनजाति आयोग की मांग- अजीत जोगी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई हो?

पत्थलगांव. राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष नन्दकुमार साय ने कहा है कि छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का जाति प्रमाण पत्र निरस्त हो जाने के बाद उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए। जशपुर सांसद श्री साय ने आज यहां संवाददाताओं से चर्चा के दौरान कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर राज्य की हाई पावर कमेटी की जांच में यह साबित हो गया है कि अजीत जोगी ने आदिवासी होने का झूठा प्रमाण पत्र पेश किया था। उन्होंने कहा कि अब हाई पावर कमेटी की जांच रिपोर्ट के बाद अजीत जोगी का मूल जाति प्रमाण पत्र भी निरस्त कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि इस मामले में अजीत जोगी के साथ उनके विधायक पुत्र अमित जोगी ने भी आदिवासी बन कर शासन की योजनाओं का जो लाभ लिया है, उसकी वसूली होनी चाहिए।

Please follow & like us:

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.