banner ad

छत्तीसगढ़ के 20 मजदूर तमिलनाडु में बंधक, मांग रहे मदद

जगदलपुर। शहर के करीब बीस मजदूरों को तमिलनाडु की एक ईंट बनाने वाली कंपनी ने बंधक बना लिया। इन मजदूरों को मजदूरी कराने का झांसा देकर विशाखापत्तनम ले जाया गया था। जहां उन्हें बंधक बना लिया गया। बंधक बनाये गये मजदूर संतोष यादव के मुताबिक सभी मजदूरों को ई-रोड विजयवाड़ा-42 शिवगिरी कटेकटौत बालाजी ब्रिक्स कंपनी में बंधक बनाकर रखा गया है। इस मामले में एक मजदूर ने बड़ी मुश्किल से  फोन पर जानकारी देते हुए जल्द से जल्द छुड़वाने की गुहार लगायी है। मजदूर के मुताबिक डेढ़ महीने पहले शहर के एक इलाके से उन्हें मजदूरी के लिए ले जाया गया था।  बंधक मजदूरों में पांच महिलाएं भी शामिल हैं। इन सभी से ईंट कंपनी में चौबीस घंटे काम करवाया जा रहा है। साथ ही भगाने की कोशिश करते हैं, तो उनके साथ मारपीट की जा रही है। बंधक बनाए गए कई मजदूर बीमार हालत में हैं और उनका इलाज भी नहीं हो पा रहा है। इस मामले में राज्य युवा आयोग के सदस्य संग्राम सिह राणा ने जिला प्रशासन से इस मामले तक पहुंचाने के लिए कलेक्टर से मिलने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन मजदूरों की हालत को देखते हुए उन्हें जल्द से जल्द छुड़वाने का जतन करे। अगर जिला प्रशासन देरी करता है, तो इस मामले को प्रदेश के मुखिया रमन सिंह तक पहुंचाकर मजदूरों को छुड़वाने का प्रयास किया जाएगा।

Filed Under: छत्तीसगढ़

RSSComments (0)

Trackback URL

Comments are closed.